Top
Action India

(अपडेट) मकर संक्रंति पर पतंजलि में हुआ चतुर्वेद परायण यज्ञ

(अपडेट) मकर संक्रंति पर पतंजलि में हुआ चतुर्वेद परायण यज्ञ
X

कोरोना वैक्सीन तैयार कर भारत संपूर्ण विश्व में लाया क्रांति: मुख्यमंत्री

हरिद्वार। एक्शन इंडिया न्यूज़

मकर संक्रांति के अवसर पर पतंजलि योगपीठ में चतुर्वेद परायण यज्ञ का आयोजन किया गया। यज्ञ में मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने सपरिवार भाग लिया। इस अवसर पर स्वामी रामदेव ने कहा कि हम ऋषियों की संतानें हैं, स्वभाव से ही हमारे जीवन में दिव्यता व देवत्व है। वेद की ऋचाओं व मंत्रोच्चारण के साथ कुंभ का पहला आयोजन आज पतंजलि योगपीठ से हुआ है। आयोजन में पधारे राम कथा वाचक स्वामी विजय कौशल महाराज ने कहा कि पतंजलि में आकर ऐसा लगता है मानो आर्य समाज पुनः जीवित हो गया हो।

इस मौके पर मुख्यमंत्री ने कहा कि आज संक्रांति का दिन है और भारत ने कोरोना वैक्सीन तैयार कर एक बड़ी क्रांति पूरे विश्व में ला रहा है। यह वही भारत है, जिसके लिए स्वामी दयानंद सरस्वती ने कहा था कि वेद भारत के लिए और भारत, भारतीयों के लिए। उन्होंने अपने पैरों पर खड़े होने वाले भारत का आह्वान किया था। आज भारत विज्ञान, तकनीक, चिकित्सा आदि क्षेत्रों में व्यापक स्तर पर खड़ा हो रहा है। देश की चार कम्पनियां कोविड की सबसे सस्ती वैक्सीन बना रही हैं। विश्व के 12 देशों ने लिखित तौर पर भारत से वैक्सीन की मांग की है।

आचार्य बालकृष्ण ने कहा कि स्वामी दयानंद सरस्वती का वक्तव्य था कि वेदों की ओर लौटो। पतंजलि सदैव इसी संकल्पना को चरितार्थ करने के लिए प्रयासरत है। पतंजलि में संचालित सभी कार्यों का शुभारंभ वेदवाणी व मंत्रोच्चारण के साथ ही होता है।

इस अवसर पर निकुंज वन, पाणिघाट, मथुरा के पीठाधीश्वर स्वामी विजय कौशल महाराज ने कहा कि पतंजलि आकर ऐसा प्रतीत होता है कि आर्य समाज पुनः जीवित हो उठा। अब से पहले ऐसा लगता था कि आर्य समाज के मात्र भवन व हवन ही शेष बचे है। उन्होंने कहा कि मेरी दृष्टि में स्वामी रामदेव महाराज सच्चे जगद्गुरु तथा आचार्य महाराज हकीम लुकमान हैं। उन्होंने कहा कि वेद के तीनों मंत्र आज पतंजलि से सार्थक हो रहे हैं। समय करवट ले रहा है, ओम् की पताका पूरे विश्व में फहराएगी।

इस मौके पर कार्यक्रम में 'वेदों की शिक्षाएं' पुस्तक का विमोचन भी किया गया। इससे पूर्व आचार्यकुलम् में वैदिक रीति से 238 विद्यार्थियों का उपनयन व वेदारंभ संस्कार संपन्न हुआ। इस सुअवसर पर पतंजलि योगपीठ फेज-2 में स्थित योग भवन में 24 कुण्डीय महायज्ञ का आयोजन किया गया। इस अवसर पर पतंजलि के ट्रस्टी पद्मसेन आर्य सहित बड़ी संख्या में अनुयायी उपस्थित थे।

Next Story
Share it