Top
Action India

उत्तराखंड कांग्रेस ने दैवीय आपदा और कोरोना के मुद्दे पर दिया धरना

उत्तराखंड कांग्रेस ने दैवीय आपदा और कोरोना के मुद्दे पर दिया धरना
X

देहरादून । Action India News

कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष प्रीतम सिंह ने राज्य में बरसात व दैवीय आपदा से हुए नुकसान के साथ ही कोरोना बीमारी में व्यवस्थाओं को लेकर सरकार की घेराबंदी की। इस दौरान उन्होंने कहा कि हम सरकार के हर जनविरोधी फैसलेे के खिलाफ सड़क पर उतर कर आंदोलन करेंगे। चाहे सरकार एक नहीं सौ मुकदमे दर्ज करे।

सोमवार को पार्टी मुख्यालय राजीव भवन में प्रदेश अध्यक्ष प्रीतम सिंह के नेतृत्व में त्रिवेंद्र सरकार के खिलाफ धरना प्रदर्शन कार्यक्रम आयोजित किया गया। पूर्व निर्धारित कार्यक्रम के तहत प्रातः 11 बजे कांग्रेस पदाधिकारी एवं कार्यकर्ता बडी संख्या में एकत्र हुए। जहां पर उन्होंनें प्रदेश अध्यक्ष प्रीतम सिंह के नेतृत्व में भाजपा सरकार की नीतियों के खिलाफ धरना देते हुए अपना विरोध दर्ज किया।

इस मौके पर प्रीतम सिंह ने संबोधित करते हुए आरोप लगाया कि त्रिवेंद्र सरकार सो गई है। उन्हें राज्य की व्यवस्थाओं से लेना देना नहीं है। इतने बड़े महामारी में सरकार घर से बाहर नहीं निकल पाई। आज राज्य के हालात बद से बदतर होते जा रहे हैं। उन्होंने कहा कि राज्य में बरसात और दैवीय आपदा की मार झेल रहे लोगों को सरकार की ओर से मदद नहीं पहुंचाई जा रही है। यही नहीं, कोरोना के बढ़ते संकट पर सरकार लोगों के जीवन से खिलवाड़ कर रही है।

सरकार की इन विफलताओं के खिलाफ कांग्रेस विवश होकर धरना दे रही हैलेकिन ये सरकार मानने वाली नहीं है। हमे सरकार से जनता की लड़ाई के लिए और बड़े आन्दोलन सड़कों पर उतर कर करना होगा।

प्रीतम सिंह ने कहा कि पिथौरागढ़ की तहसील मुनस्यारी क्षेत्र के टांगा एवं गैला गांव में आपदा से 5 लोगों की मौके पर ही मौत हुई तथा कई लोग अभी तक लापता बताये जा रहे हैं। पूरे मुनस्यारी क्षेत्र का मुख्यालय से सम्पर्क टूटा रहा है।

फिर भी राहत नहीं पहुंच पाई। इसी प्रकार की घटना जनपद पौड़ी गढ़वाल के कोटद्वार में हुई जिसमें तीन लोगों को जान से हाथ धोना पड़ा। राज्यभर में बारिस से अन्य क्षेत्रों में भी भारी नुकसान हो रहे हैं।

राज्य सरकार के आपदा प्रबन्धन विभाग द्वारा दैवीय आपदा संभावित क्षेत्रों में सुरक्षा के कोई प्रबन्ध नहीं किये गये हैं। पिथौरागढ़ की घटना के बाद आपदा प्रभावित क्षेत्रों के लोगों के मन में दहशत का माहौल व्याप्त है। देश एवं प्रदेश की भाजपा सरकारें कोरोना महामारी से निपटने में भी पूरी तरह विफल रही हैं।

उन्होंने राज्य के मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत से दैवीय आपदा में मारे गये प्रत्येक मृतक के परिजनों को 10-10 लाख रुपये तथा प्रभावित परिवारों को 5-5 लाख रुपये तथा परिवार को भी 10 लाख रुपये की सहायता दी जानी चाहिए।

उन्होंने कहा कि कांग्रेस पार्टी द्वारा सत्ता में रहते हुए जिन विकास की योाजनाओं को शुरू किया था भाजपा सरकार ने उन्हें भी बन्द कर दिया। कांग्रेसजनों द्वारा कोरोना काल में लोगों तक राहत पहुंचाई जा रही है। इस पर भी उनके खिलाफ राजनैतिक विद्वेष की भावना से झूठे मुकदमे लादे गये।

Next Story
Share it