Action India
अन्य राज्य

धार्मिक स्थल खोलने की तैयारी,​ अफसरों ने जारी किया दिशा निर्देश

धार्मिक स्थल खोलने की तैयारी,​ अफसरों ने जारी किया दिशा निर्देश
X

  • कमिश्नर और आईजी ने धर्मगुरूओं के साथ की बैठक

वाराणसी । एएनएन (Action News Network)

कोरोना संकट काल में बंद मंदिरों और धार्मिक स्थलों को खोलने के लिए जिला प्रशासन ने पूरी तैयारी कर ली है। सोमवार पूर्वाह्न वाराणसी परिक्षेत्र के कमिश्नर दीपक अग्रवाल और वाराणसी परिक्षेत्र के पुलिस महानिरीक्षक(आईजी)विजय सिंह मीणा ने कमिश्नरी सभागार में धर्म गुरुओं के साथ बैठक की।

बैठक में अफसरों ने धार्मिक स्थलों के खोलने की शासन के दिशा-निर्देशों की जानकारी धर्मगुरूओं को दी। अफसरों ने कहा कि कोरोना का खतरा अभी टला नहीं है। पूरी सजगता व सतर्कता बरतनी आवश्यक है। मंदिर या अन्य धार्मिक स्थल पर 05 से अधिक व्यक्ति धर्म स्थल के अंदर एक बार में नहीं रहेंगे। दर्शन पूजन,जियारत के लिए बाहर प्रतीक्षा लाइन में 6-6 फीट की दूरी श्रद्धालुओं में आवश्यक है।

इस दौरान हर व्यक्ति को मास्क लगाना अनिवार्य है। प्रवेश द्वार पर थर्मल स्कैनिंग के बाद कोरोना लक्षणों से रहित व्यक्ति को ही धार्मिक स्थलों में प्रवेश दिया जायेगा। अफसरों ने कहा कि यदि कोई धार्मिक स्थल स्वतः से कुछ दिनों के लिए बंद रखना चाहते हैं तो वह रख सकते हैं, खोलने की कोई बाध्यता नहीं है। कमिश्नर ने अनुरोध किया कि धार्मिक स्थल पर लाउडस्पीकर से कोरोना से बचाव के लिए जानकारी प्रसारित की जाती रहे।

जिला प्रशासन ने बनाया चेक लिस्ट
कमिश्नर दीपक अग्रवाल के अनुसार शासन के दिशा निर्देशों के क्रम में जिला प्रशासन द्वारा एक चेक लिस्ट बना दी गई है। धार्मिक स्थल के व्यवस्थापक इसके अनुरूप व्यवस्था कर इसे भरकर थानों में जमा कर दें। जिसे प्रशासन व पुलिस के अधिकारी संयुक्त रूप से निरीक्षण कर व्यवस्था सुनिश्चित होना देख लेंगे तभी उस धार्मिक स्थल को खोलने की अनुमति दी जाएगी।

मंदिरों के विग्रह, गुरुद्वारों के ग्रंथ छूने पर मनाही
कमिश्नर दीपक अग्रवाल ने बताया कि धार्मिक स्थल खुलने पर मंदिर के विग्रह, ग्रंथ, घंटा-घड़ियाल छूना प्रतिबंधित रहेगा। प्रसाद स्वरूप जल छिड़काव भी नहीं किया जाए। समय-समय पर धार्मिक स्थल को सैनिटाइज किया जाता रहे। धार्मिक स्थल के प्रबंधन कोई भी संदिग्ध व्यक्ति पाए जाने पर तत्काल पुलिस व डॉक्टर को सूचित करें। बैठक में वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक प्रभाकर चौधरी भी मौजूद रहें।

Next Story
Share it