Action India
अन्य राज्य

वट-सावित्री पूजनोत्सव के लिए सजने लगींं दुकानें

वट-सावित्री पूजनोत्सव के लिए सजने लगींं दुकानें
X

दरभंगा । एएनएन (Action News Network)

अमर सुहाग की कामना के लिए मनाए जाने वाला पर्व "वट-सावित्री ' का पूजन इस वर्ष सुहागिन महिलाएं 22 मई, शुक्रवार को करेंगी। लिहाजा इस पूजा में प्रयुक्त होनेवाली पूजन-सामग्रियों की दुकानें अभी से शहर के विभिन्न चौक-चौराहों पर सजने लगी हैंं। महिलाएं इस पूजन सामग्री में मुख्य रुप से कपड़े की बनी सत्यवान-सावित्री की मूर्ति, बांस का पंखा, लाल धागा, बांस का डलिया आदि की खरीदारी करती हैंं। लेकिन लॉकडाउन के कारण अपेक्षा अनुरूप बाजारों में लोगों की चहल-पहल कम देखी जा रही है। पूजन सामग्री की खरीदारी करने पहुंची एक महिला बताती हैंं कि 22 मई को वट-सावित्री पूजा है।

उसी की खरीदारी करने के लिए मैं बाजार आई हूं। लेकिन लॉकडाउन के कारण गत वर्ष की तुलना में इस बार बाजार में काफी कम भीड़ है। फलस्वरूप पूजन सामग्री सस्त्ती मिल रही है। बताते चलें कि वैदिक मान्यतानुसार सावित्री ने वटवृक्ष के नीचे तप कर यमराज से अमर सुहाग का वरदान लेकर अपने मृत पति का जीवन पाया था। उसी दिन से सुहागिन महिलाएं वटवृक्ष के नीचे वट सावित्री पूजन कर अपने पति की लंबी आयु की कामना करती हैं।

पूजन सामग्री की बिक्री कर रही मीना देवी बताती है कि लॉकडाउन के कारण हमलोगों का रोजगार बंद हो गया था। चूंकि वट सावित्री पूजा का सामान हमलोग सदैव से बेचते आए हैं, इसीलिए इस वर्ष भी दुकान खोल रखी है। लेकिन लॉकडाउन के कारण ग्राहक ना के बराबर आ रहे हैं। इसके कारण बिक्री अपेक्षानुरूप कम है। वैसे भी दिन में सुबह के 10 बजे के बाद से गर्मी ज्यादा पड़ने लगती है, जिसके कारण हमलोग 3 बजे अपनी दुकानेंं खोलते हैं और लाकडाउन की वजह से शाम 7 बजते ही दुकानें बंद हो जाती है।

Next Story
Share it