Top
Action India

जुलाई में 36 फीसदी गिरी वाहनों की बिक्री

जुलाई में 36 फीसदी गिरी वाहनों की बिक्री
X

नई दिल्ली Action India News

कोरोना वायरस महामारी के कारण आॅटोमोबाइल सेक्टर बुरी तरह प्रभावित हुआ है। देश में आॅटोमोबाइल रिटेल इंडस्ट्री की सर्वोच्च संस्था फेडरेशन आॅफ आॅटोमोबाइल डीलर्स एसोसिएशन के आंकड़ों के मुताबिक जुलाई में देश में वाहनों की बिक्री में पिछले साल की तुलना में 36 फीसदी की गिरावट आई।

इस दौरान दोपहिया वाहनों की बिक्री में 37.47 फीसदी, तिपहिया वाहनों की बिक्री 74.33 फीसदी, कमर्शियल वाहनों की बिक्री 72.18 फीसदी और पर्सनल वीकल्स की बिक्री में 25.19 फीसदी की गिरावट आई है।

हालांकि इस साल जून की तुलना में जुलाई के आंकड़े बेहतर रहे हैं। फाडा का कहना है कि पर्याप्त नकदी के बावजूद बैंक और एनबीएफसी जोखिम लेने के मूड में नहीं हैं जिससे कमर्शियल, तिपहिया और दोपहिया वाहनों की मांग प्रभावित हो रही है।

उसका कहना है कि सरकार को मांग बढ़ाने के लिए हरेक इंडस्ट्री के लिए प्रोत्साहन देना चाहिए और तुरंत स्क्रैपेज पॉलिसी लागू करनी चाहिए। फाडा ने प्रेसिडेंट आशीष हर्षराज काले ने कहा कि देश अभी अनलॉक की प्रक्रिया में है। जून की तुलना में जुलाई के आंकड़ें बेहतर रहे हैं लेकिन पिछले साल की तुलना में आॅटो सेक्टर की रिकवरी अभी दूर की कौड़ी है।

लोन देने से कतरा रहे हैं बैंक: उन्होंने कहा कि अच्छे मॉनसून के कारण ग्रामीण बाजार में अच्छी रिकवरी दिख रही है। मॉनसून से ट्रैक्टरों, छोटे कमर्शियल वाहनों और मोटरसाइकल की बिक्री में सकारात्मक रुख दिख रहा है। बैंकों और एनबीएफसी के पास नकदी की कोई कमी नहीं है लेकिन वे लोन देने से कतरा रहे हैं।

इससे जिससे कमर्शियल, तिपहिया और दोपहिया वाहनों की मांग प्रभावित हो रही है। कई सेंगमेंट में वीकल फंडिंग परसेंटेज में 10 से 15 फीसदी की गिरावट आई है जिससे वाहन खरीदना कई उपभोक्ताओं की पहुंच से बाहर हो गया है।

Next Story
Share it