Action India

आमिर के टेस्ट क्रिकेट छोड़ने की घोषणा से काफी आहत हुआ था : वकार यूनिस

आमिर के टेस्ट क्रिकेट छोड़ने की घोषणा से काफी आहत हुआ था : वकार यूनिस
X

डर्बीशायर । Action India News

पाकिस्तान के गेंदबाजी कोच वकार यूनिस ने स्वीकार किया है कि महज 27 साल की उम्र में तेज गेंदबाज मोहम्मद आमिर के टेस्ट क्रिकेट छोड़ने के फैसले से वह काफी आहत हुए थे। उन्होंने कहा कि हालांकि अब उन्होंने इस बात को भूला दिया है और वो आमिर को राष्ट्रीय टीम के फ्यूचर प्लान का अहम हिस्सा मानते हैं।

बता दें कि आमिर पहले अपने दूसरे बच्चे के जन्म के चलते इंग्लैंड दौरे से हट गए थे, लेकिन अब उन्होंने खुद को इस दौरे के लिए उपलब्ध बताया है। वकार ने उनकी वापसी का स्वागत करते हुए कहा, 'आमिर अब भी फ्यूचर के हमारे प्लान का हिस्सा है क्योंकि वो अनुभवी है। अगर वो अच्छा प्रदर्शन करता है, पाकिस्तान के लिए मैच जीत सकता है तो हम उसका उपयोग करना चाहेंगे। अगले साल हमें विश्व कप में भी खेलना है।'

उन्होंने कहा, 'जब उसने टेस्ट क्रिकेट से संन्यास लिया था तो मैं काफी आहत हुआ था, लेकिन हमें आगे के बारे में सोचना होता है और वो करना होता है जो टीम के लिए बेस्ट हो।' मुख्य चयनकर्ता और मुख्य कोच मिस्बाह-उल-हक ने आमिर से संपर्क किया है और अगर आमिर का दो कोविड-19 टेस्ट नेगेटिव आता हैं, तो वह इस सप्ताह इंग्लैंड के टीम में शामिल हो जाएंगे।

यूनिस ने कहा, "आमिर एक अनुभवी तेज गेंदबाज हैं और हमारी सफेद गेंद क्रिकेट की योजना में थे और हम सिर्फ उतने ही तैयार गेंदबाजों का इस्तेमाल कर रहे हैं जितने कि हम कर सकते हैं।" जब से आमिर ने घोषणा की कि वह खेल का सबसे लंबा प्रारूप नहीं खेलेंगे, पाकिस्तान ने नसीम शाह, शाहीन शाह अफरीदी और मोहम्मद अब्बास जैसे नए खिलाड़ियों को टेस्ट प्रारूप में मौका दिया। यूनिस ने कहा,"अगर आमिर टेस्ट क्रिकेट के लिए उपलब्ध होंगे, तो हम उन्हें चुनेंगे और वह देश के लिए खेलेंगे।"

यूनिस ने कहा," हालांकि टीम में शामिल होने के लिए कड़ी प्रतिस्पर्धा होनी चाहिए, जिससे वास्तव में टीम को मदद मिलती है। यदि आप 90 के दशक को देखते हैं, तो वसीम अकरम, मेरे, शोएब अख्तर, और कई अन्य गेंदबाज अंतरराष्ट्रीय चयन के लिए कड़ी मेहनत कर रहे थे, और यही वह जगह है जहाँ टीम वास्तव में खिलती है।"

28 जून को पाकिस्तान के खिलाड़ी और सहयोगी स्टाफ इंग्लैंड पहुंचे थे, और डर्बी की यात्रा से पहले 14 दिनों के लिए क्वारन्टीन में चले गए थे। पाकिस्तानी टीम एक जैव-सुरक्षित वातावरण में रह रही है जहां वे समूह के बाहर किसी के साथ बातचीत नहीं करेंगे और कोविद -19 के नियमित परीक्षण दौरे पर आयोजित किए जाएंगे।

पाकिस्तान और इंग्लैंड तीन टेस्ट और इतने ही टी-20 में एक दूसरे का सामना करेंगे। श्रृंखला का पहला मैच 5 अगस्त से मैनचेस्टर में खेला जाना है।

Next Story
Share it