Top
Action India

गर्मी में गाजियाबाद के वाशिंदों को भरपूर मिलेगा पीने का पानी

गर्मी में गाजियाबाद के वाशिंदों को भरपूर मिलेगा पीने का पानी
X

  • महानगर में है 19 लाख की आबादी, 30 एचपी के नलकूपों को किया रिबोर

  • निगम ने वाटर क्राइसेस मैनेमेंट पर तैयार की रणनीति

गाजियाबाद। एएनएन (Action News Network)

गर्मी के मौसम में महानगर के 19 लाख लोगों की प्यास बुझाने के लिए नगर निगम ने तैयारी कर ली है। इसके लिए नगर निगम के जलकल विभाग ने जहां 30 एचपी के बडे़ नलकूपों को रिबोर किया है वहीं मलिन बस्तियों व सार्वजनिक स्थलों पर पेयजल की आपूर्ति के लिए करीब सात हजार हैंड पंपों की ओवरहालिंग की गई है। यह जानकारी नगर आयुक्त दिनेश चंद्र ने शनिवार को दी। गर्मी के मौसम में अक्सर गाजियाबाद में पेयजल की दिक्कत महसूस होती है।

इसी समस्या को ध्यान में रखते हुए नगर निगम ने इससे निपटने के लिए अभी से क्राइसिस मैनेजमेंट पर कार्य करना शुरू कर दिया है। केंद्रीय मानव संसाधन मंत्रालय की एक रिपोर्ट के मुताबिक गाजियाबाद में भूगर्भ जल स्तर खतरे के निशान पर है और लगातार नीचे जा रहा है। इसलिए शहर में निजी बोरिंग पर पूर्णतः प्रतिबंध है, पूरा शहर गाजियाबाद नगर निगम की वाटर सप्लाई पर निर्भर है। जिन बस्तियों में वाटर सप्लाई की लाइन नहीं बिछी है,वहां नगर निगम वाटर टैंकर के जरिए पेयजल की आपूर्ति करता है।

इसी लिए नगर निगम ने इन टैंकरों को गर्मी के मौसम के मद्देनजर दुरुस्त करा लिया है। टैंकरों के ड्राइवरों को यह भी ताकीद किया है कि वे गर्मी में एलर्ट रहेंगे। इसके अलावा गर्मी के मौसम में सार्वजनिक स्थलों पर होने वाले धार्मिक व सामाजिक कार्यक्रमों के लिए भी नगर निगम ने अपने वाटर टैंकर चालकों को तैयार रहने को कहा है। नगर आयुक्त ने बताया कि गर्मी के मौसम में पेयजल की समस्या से शहर को बिल्कुल भी जूझना नहीं पडे़गा।

इस संबंध में नगर आयुक्त ने जनता से अपील करते हुए कहा कि नगर निगम जो पेयजल आपूर्ति करता है वह गुणवत्ता की लिहाज से पूर्ण रूप से स्वास्थ्य के लिए सुरक्षित है। निगम द्वारा आपूर्ति किए जाने वाले पेयजल में नियमित रूप क्लोरीनेशन किया जाता है। उन्होंने यह भी कहा कि निगम के पेयजल के सेवन से संक्रमण का खतरा शून्य हो जाता है।

Next Story
Share it