Top
Action India

गुजरात की तर्ज पर उप्र में प्रवासी भारतीयों को जोड़ने का ढांचा तैयार

गुजरात की तर्ज पर उप्र में प्रवासी भारतीयों को जोड़ने का ढांचा तैयार
X

  • उप्र के प्रवासी भारतीयों की सुविधा को जल्द शुरू होगी वेबसाइट

  • वेबसाइट एनआरआई के लिए कम्यूनिकेशन का हब साबित होगी: सिद्धार्थ नाथ

लखनऊ । एएनएन (Action News Network)

प्रदेश के सूक्ष्म, लघु एवं मध्यम उद्यम तथा निर्यात प्रोत्साहन, एनआरआई तथा निवेश प्रोत्साहन मंत्री सिद्धार्थ नाथ सिंह ने बुधवार को कहा कि जिस प्रकार प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने गुजरात में मुख्यमंत्री रहते निवेश बढ़ाने के लिए प्रवासी भारतीयों को जोड़ने का कार्य किया था, उसी तर्ज पर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के कुशल नेतृत्व में प्रवासी भारतीयों को जोड़ने का ढांचा तैयार हो चुका है। शीघ्र ही उत्तर प्रदेश के प्रवासी भारतीयों की सुविधा के लिए एक सरल उपयोगी वेबसाइट शुरू की जायेगी और इसको भारत सरकार की एनआरआई वेबसाइट से इसे जोड़ा जायेगा। साथ ही यह मोबाइल फ्रेंडली भी होगी।

अयोध्या की दीप-दीपावली तथा बरसाना होली का देख सकेंगे सजीव प्रसारण

श्री सिंह बुधवार को अपने कार्यालय कक्ष में प्रवासी भारतीयों की सुविधा के लिए तैयार की जा रही एनआरआई विभाग की वेबसाइट का प्रेजेंटेशन के माध्यम से अवलोकन कर रहे थे। उन्होंने अधिकारियों को निर्देश दिए कि प्रवासी भारतीय अपनी मातृभूमि से जुड़ रहे और उनकी जड़े टूटने न पायें। इसके लिए अयोध्या की दीप-दीपावली तथा वृन्दावन में होने वाली बरसाना की होली का आनन्द उन्हें वेबसाइट के माध्यम से लाइव स्ट्रीम उपलब्ध कराने की व्यवस्था सुनिश्चित की जाये।

वेबसाइट में निवेशकों को मिलेगी सभी जानकारी

उन्होंने यह भी कहा कि वेबसाइट में निवेशकों को निवेश संबंधी समस्त जानकारी मिलेगी। साथ ही मुख्यमंत्री के ट्वीट भी प्राप्त होते रहेंगे। यह वेबसाइट प्रवासी भारतीयों के लिए कम्युनिकेशन का हब साबित होगी। उन्होंने निर्देश दिए एक सप्ताह के अन्दर वेबसाइट तैयार करने का कार्य पूर्ण कर लिया जाय, ताकि इसी माह मुख्यमंत्री से इसका शुभारम्भ कराया जा सके।

निवेश मित्र पोर्टल से भी जोड़ी जायेगी वेबसाइट

एनआरआई मंत्री ने कहा कि इस वेबसाइट को हिन्दी और अंग्रेजी दोनों भाषाओं में तैयार कराया जा रहा है। प्रदेश के प्रमुख विभागों पर्यटन, हेल्थ टूरिज्म, शिक्षा, एमएसएमई तथा निवेश को सीधे इससे लिंक दिया जायेगा। निवेश मित्र पोर्टल से भी इसको जोड़ा जायेगा। इस पर प्रोसेसिंग और पेमेंट की ऑनलाइन सुविधा उपलब्ध होगी। उत्तर प्रदेश में निवेश को बढ़ाने में यह वेबसाइट बड़ी गेम चेंजर साबित होगी।

रजिस्ट्रेशन, वेरीफिकेशन व नवीनीकरण की मिलेगी सहूलियत

उन्होंने कहा कि इस वेबसाइट के माध्यम से प्रवासी भारतीयों को रजिस्ट्रेशन, वेरीफिकेशन एवं नवीनीकरण की सहूलियत मिलेगी। वेबसाइट पर एनआरआई को पर्यटन स्थलों पर भ्रमण, निवेश आदि की सुविधा उपलब्ध होगी। उन्होंने कहा कि प्रवासी भारतीय एनआरआई दिवस में शामिल होने तथा प्रवासी रत्न पुरस्कार के लिए भी वेबसाइट पर आवेदन कर सकेंगे।

Next Story
Share it