Action India
अन्य राज्य

मजदूरों को परेशान कर रही दिल्ली-हरियाणा की पुलिस, बागपत प्रशासन ने खड़े किए हाथ

मजदूरों को परेशान कर रही दिल्ली-हरियाणा की पुलिस, बागपत प्रशासन ने खड़े किए हाथ
X

  • न खाना मिल रहा और न पानी, उन्हें चोरी छिपे घर जाना पड़ रहा

बागपत । एएनएन (Action News Network)

जनपद के अंदर प्रवासी मजदूरों का आगमन लगातार चल रहा है। हरियाणा और दिल्ली से मजदूरों को यूपी की सीमा में भेजा जा रहा है। एनसीआर क्षेत्र के बागपत जनपद में इन मजदूरों की तादाद लगातार बढ़ रही है। प्रशासन भी अधिकांश मजदूरों के लिए न तो खाने का प्रबंध कर पा रहा है और न हीं घर भेजने की व्यवस्था। आलम यह है कि मजदूरों को पुलिस से चोरी-छिपे अपने घर को जाने के लिए दुर्गम रास्तों का सहारा लेना पड़ रहा है। मंगलवार को बागपत जनपद के ईस्टर्न पेरीफेरल एक्सप्रेस-वे के पास खेकड़ा और बड़ा गांव के पास पहुंचे दिल्ली हरियाणा और पंजाब के मजदूरों ने दिल्ली सरकार और हरियाणा पंजाब सरकार की बेरुखी की सारी कहानी बागपत पहुंचकर बताई। दिल्ली से बागपत के बड़ेगांव पहुंचे मजदूर दयाशंकर चौधरी ने बताया कि वह दिल्ली सरकार से संतुष्ट नहीं है।

उन्होंने खाने पीने की व्यवस्था करने का वादा किया था लेकिन उन्हें कोई सुविधा नहीं मिली। इस कारण उन्हें मजबूर होकर अपने घर के लिए निकलना पड़ा। अफवाह उड़ रही है कि दिल्ली में खाना मिल रहा है और राशन मिल रहा है लेकिन उन्हें कुछ नहीं मिल रहा। टोल फ्री नंबर पर या तो दूसरा नंबर दे दिया जाता है या नंबर बिजी रहता है। इसलिए टोल फ्री नंबर से भी सेवाएं नहीं मिल रही। दिल्ली से निकले चार दिन हो चुके हैं। पुलिस कभी मार कर इधर भगा देती है तो कभी उधर भगा देती है। दिल्ली पुलिस हरियाणा में खदेड़ देती है तो हरियाणा पुलिस दिल्ली में खदेड़ देती है। इसलिए हम दुर्गम रास्तों से होकर यहां तक चार दिन में पहुंचे हैं। रास्ते में कोई तरस खाकर हमें खाने को दे देता है तो पेट भर जाता है नहीं तो भूखे पेट ही चले जा रहे हैं।

कहां जाकर प्राण त्यागे ना कोई घर जाने देता है ना कोई खाने को देता है। प्रयागराज, सिद्धार्थनगर और बिहार सहित कई जिलों व प्रदेशों के लोग अपने घर जाना चाहते हैं लेकिन कोई सरकारी मदद नहीं मिल रही है। बागपत जनपद के खेकड़ा स्थित पाठशाला पर भी रात्रि के समय काफी संख्या में मजदूर पहुंचे लेकिन बागपत प्रशासन ने उनकी कोई मदद नहीं की। स्थानीय लोगों ने ही उनके खाने-पीने की व्यवस्था की वही बड़ा गांव स्थित इन मजदूरों के लिए भी प्रशासन से कोई सहयोग नहीं मिला इनके लिए भी बड़ा गांव के किसानों ने ही खाने-पीने की व्यवस्था की यह सभी मजदूर दिल्ली और हरियाणा राज्य से भगाए गए मजदूर हैं जो बागपत तक पहुंचे हैं और अपने घर जाने की अपील कर रहे हैं।

Next Story
Share it