Action India
ट्रेंडिंग

सोशल मीडिया पर क्यों इतना ट्रेंड करने लगी है Photo Lab ऐप

सोशल मीडिया पर क्यों इतना ट्रेंड करने लगी है Photo Lab ऐप
X

नई दिल्ली । एएनएन (Action News Network)

इन दिनों सोशल मीडिया पर एक एप ने खूब तहलका मचाया हुआ है। नाम है Photo Lab। इस ऐप के ज़रिए आप अपनी फोटो को पेंटिंग या कार्टून में परिवर्तित कर सकते हैं। इस ऐप की चर्चा तब और ज़्यादा तेज़ हो गई जब भारत में लाखों लोग इसे इस्तेमाल करने लगे। लोग अपनी dp (डिस्प्ले पिक्चर) इस ऐप के इस्तेमाल से पेंटिंग में परिवर्तित करने लगे। देखते ही देखते, एक पीले बैकग्राउंड वाली पेंटिंग जैसे दिखने वाली तस्वीरें खूब वायरल होने लगीं।

कैसे और कब शुरू हुई फोटो लैब ऐप?

ऐसा नहीं है कि ये ऐप अभी-अभी आयी हो। ये ऐंड्रॉयड और iOS दोनों ही प्लैटफॉर्म्स पर बहुत पहले से उपलब्ध है। इसके लिए आपको कोई पैसे भी नहीं खर्चने। इसे फ्री में डाउनलोड किया जा सकता है। इस ऐप में 850 से ज्यादा अलग-अलग फिल्टर्स और इफेक्ट्स दिए गए हैं। गूगल प्ले स्टोर से इस ऐप को 10 करोड़ से ज्यादा बार डाउनलोड किया गया है। 21 लाख से ज्यादा रिव्यू के साथ इस ऐप को 4.4 स्टार की रेटिंग मिली हुई है। साथ ही इसे वेब पर भी ऐक्सेस किया जा सकता है।

कैसे काम करती है फ़ोटो लैब ऐप?

एक बार ऐप डाउनलोड करने के बाद आपको ढेर सारे फिल्टर्स और स्टाइलिश फोटोज की एक 'feed' दिखती है, जिनमें से किसी को भी सिलेक्ट किया जा सकता है। इस फीड को तीन पार्ट्स- ट्रेंडिंग, रिसेंट और टॉप में डिवाइड किया गया है। अब पॉप्युलर हो रहे फिल्टर इसके ट्रेंडिंग सेक्शन में दिख जाएंगे। किसी फिल्टर पर टैप करने के बाद ऐप को कुछ परमिशंस देनी पड़ती हैं और आप अपनी कोई फोटो सिलेक्ट कर सकते हैं, जिसपर फिल्टर लगाना हो।

प्रीमियम वर्जिन के लिए खर्चने होंगे पैसे, लेकिन..

आप ढेर सारे फिल्टर्स इस्तेमाल कर सकते हैं और फोटोज बना सकते हैं। यह ऐप आर्टिफिशल इंटेलिजेंस की मदद से फोटो को स्टाइलिश और पेंटिंग जैसा बना देता है। इसके अलावा AI कार्टून जैसा पोर्ट्रेट भी यूजर्स ऐप से बना सकते हैं। हालांकि फ्री ऐप होने की वजह से हर फोटो पर 'Photo Lab' वॉटरमार्क बना दिखता है।

अगर आप यह वॉटरमार्क हटाना चाहें तो ऐप का प्रीमियम वर्जन ट्राई कर सकते हैं। यह तीन दिन का फ्री ट्रायल भी ऑफर करता है।

कितनी सिक्योर है ये एप?

जहां तक सिक्योरिटी की बात है तो, इस ऐप को अब तक सिक्योर ही माना जा रहा है। ऐपल iOS पर चेक से पता चलता है कि इस ऐप को बनाने वाली कंपनी VicMan है और ऐंड्रॉयड पर इसे Linerock Invesments ऑफर कर रहा है।

ये दोनों ही Pho.to नाम की वेबसाइट से जुडे़ हैं, जो 10 साल के एक्सपीरियंस और 16 करोड़ से ज्यादा यूजर्स का दावा करती है। ऐप केवल फोटो सिलेक्ट और सेव करने के लिए गैलरी का ऐक्सेस मांगता है और पुराना होने के चलते इसे सिक्यॉर माना जा सकता है। बावजूद इसके कई फीचर्स ऐसे भी हैं जो पूरी तरह पेड हैं। उसके लिए ये आपके फ़ोन के कुछ ऐक्सेस मांगती है। एप का आप भी करें इस्तेमाल और ले नया मज़ा अपनी तस्वीरों का।

Next Story
Share it