Action India
अन्य राज्य

शराब की दुकाने खुलते ही लोगों की कतारें लगी

शराब की दुकाने खुलते ही लोगों की कतारें लगी
X

अजमेर । एएनएन (Action News Network)

अजमेर में सोमवार से अंग्रेजी शराब की दुकानें खुलने से लोगों की लम्बी कतारें लग गई। सोमरस के चाहने वाले 40 दिन से प्यासे थे। अजमेर रेड जोन में है। यहां चार पुलिस थाना क्षेत्र में कर्फ्यू लगा है। दो थाना क्षेत्र में सख्ती है। जिन क्षेत्रों में कोरोना वायरस संक्रमित नहीं है वहां का हाल यह है कि लोग दूध और पानी से भी ज्यादा शराब के प्यासे नज़र आ रहे हैं। घंटों लम्बी कतार में खड़े हैं।

जिलों में जहां कर्फ्यू नहीं लगा है, उन क्षेत्रों में शराब की दुकानें खुल गई हैं। सरकार की इस गाइड लाइन के मद्देनजर सोमवार से लाॅकडाउन 3 शुरू होने पर जो राहतें मिलीं है उनमें से एक यह है शामिलि है। रविवार को अवकाश के बावजूद शराब लाइसेंसधारियों की भीड़ जिला आबकारी कार्यालय में लगी रही। चूंकि लॉकडाउन-3 की शुरुआत चार मई से हुई है, इसलिए लाइसेंस धारी चाहते हैं कि कर्फ्यू रहित क्षेत्रों की दुकानें शुरू हो जाएं। जिन व्यक्तियों की दुकानें लॉटरी में निकली है, उन्होंने दुकान की लोकेशन और निर्धारित फीस आदि जमा कराने की प्रक्रिया पूरी कर ली है। सरकार का आदेश मिलते ही दुकानें खुल गई है।

शराब विक्रेताओं को पूरी उम्मीद थी कि 3 मई की रात तक सरकार का आदेश मिल जाएगा। सुबह 10 बजे से ही सड़कों पर भीड़ उतरना शुरू हो गई। शराब के लिए लोगों को सोशल डिसटेन्सिंग के बाबत पुलिस बल लगाने की जरूरत नहीं पड़ी। उलटा पुलिस ने तो शराब की दुकानें खुलने के साथ पूरी तत्परता से स्नातक वैरीफिकेशन करना शुरू कर दिया। जिससे ग्राहक को परेशानी ना हो। यहां पुलिस ग्राहक का ख्याल रखती नज़र आई। जबकि डेयरी बूथ पर दूध लेने जाने वालों के पुलिस ने बिना समय गंवाए वाहन सीज कर चालान काट दिए थे।

Next Story
Share it