Top
Action India

सुहागनगरी में महिला चिकित्सक हाथों से तैयार मॉस्क देकर लोगों को कर रहीं जागरूक

सुहागनगरी में महिला चिकित्सक हाथों से तैयार मॉस्क देकर लोगों को कर रहीं जागरूक
X

फिरोजाबाद । एएनएन (Action News Network)

वैश्विक महामारी कोरोना वायरस से बचाव के लिये शहर की एक समाज सेविका महिला चिकित्सक ने मास्क बनाने का अभियान चलाया है। वह अपने हाथों से अपने घर पर ही मास्क बनाकर उसे सेनेटाइज कर रूरतमंदों को निशुल्क प्रदान कर उन्हें जागरूक करने का काम कर रही है।

वह अब तक लगभग तीन हजार से अधिक मास्क तैयार कर उन्हें जरूरतमंदों में नि:शुल्क वितरित कर चुकी है। उनके इस सेवा कार्य में उनके चिकित्सक पति डाॅ एस. पी. लहरी व पुत्री अदिति लहरी का भी पूरा सहयोग रहता है। शहर के आसफाबाद स्थित लहरी हॉस्पिटल के प्रमुख डाॅ. एस. पी. लहरी की पत्नी पत्नी डाॅ. लक्ष्मी लहरी ने हिन्दुस्थान समाचार से वार्ता करते हुये कहा कि वह व उनके पति आरम्भ से ही समाजसेवा कर लोगों की मदद करने में विश्वास रखते है। ऐसा करने से उनके मन को शांति मिलती है। उन्होंने कहा कि कोरोना महामारी के इस संकट में प्रधानमंत्री ने कहा है कि जान है तो जहान है।

हर किसी की रक्षा हो सके। कोई मास्क के बिना घर से बाहर न निकले। इसलिए उन्होंने सुहागनगरी की गरीब, मजदूर जनता को नि:शुल्क मॉस्क प्रदान करने का प्रण लिया और वह पिछले 20 दिनों से निरन्तर घर पर ही अपने हाथों से मास्क तैयार कर उनका वितरण कर रही है। वह अब तक लगभग तीन हजार से अधिक मास्क तैयार कर उन्हें जरूरतमंदों में नि:शुल्क वितरित कर चुकी है। उनका यह भी कहना है कि जव तक भारत से कोरोना महामारी समाप्त नही होती उनका यह सेवा कार्य निरन्तर जारी रहेगा।

वायरस रोकने में पूरी तरह सुरक्षित है मास्क

डाॅ एस पी लहरी ने बताया कि मास्क बनाने का जो कपड़ा है वह काफी मोटा है, जिसमें कोलिस्टर व सूती धागा मिला हुआ है। यह मॉस्क किसी भी तरह के वायरस व बैक्टिरिया को अन्दर नहीं जाने देता है। पूरी तरह से सुरक्षित है। यह थ्री लेयर है, दोनो तरफ से मोड़कर इसे मेरी धर्मपत्नी बना रही है। नाक व मुंह पर जहां से स्वसन क्रिया होती है वहां पर ट्रिपल लेकर आती है। यह तीन स्तर का मास्क है। उनका कहना है कि आरम्भ से ही वह व उनकी पत्नी समाज सेवा कार्य से जुड़ी रही है। अर्न्तराष्ट्रीय रोटरी से भी जुड़े रहे है। शहर की तमाम सामाजिक संस्थाओं से जुड़े हुये है। असहाय, निर्धन लोगों की सहायता करने का मन शुरू से ही रहा है। ऐसा करने से हम पति पत्नी को संतोष मिलता है।

Next Story
Share it