Top
Action India

गोवर्धन पूजा शोभायात्रा में यदुवंशियों का सैलाब, पूरे रास्ते मनरी कला का हुआ प्रदर्शन

गोवर्धन पूजा शोभायात्रा में यदुवंशियों का सैलाब, पूरे रास्ते मनरी कला का हुआ प्रदर्शन
X

वाराणसी।

दीपावली पर्व के दूसरे दिन सोमवार को यदुवंशियों ने परम्परागत गोवर्धन शोभायात्रा निकाली। गोवर्धन पूजा समिति की ओर से आयोजित शोभायात्रा में शामिल होने के लिए उत्साहित यदुवशिंयों का सैलाब उमड़ पड़ा। समाज की रवायत, आस्था और उल्लास में डूबे युवा केसरिया पगड़ी बांधे पूरे रास्ते ढोल-नगाड़ों की थाप पर झूमते-नाचते चल रहे थे।

शोभायात्रा में आकर्ष​क झांकियां, वाहनों पर वृंदावन के कलाकारों के रासनृत्य, भगवान कृष्ण के जीवन से जुड़ी झांकिया, पूरे रास्ते परम्परागत मनरी कला (लट्ठबाजी) का प्रदर्शन,मुंह से आग निकालने की कला,ऊंटों का काफिला, आकर्षण का केन्द्र रहा। शोभायात्रा निकलने के दौरान पूरे रास्ते सड़क की पटरियों के दोनों तरफ खड़े हजारों यदुवंशी समाज और महिलाएं पुष्पवर्षा भी करती रही। शोभायात्रा लहुराबीर, पिपलानी कटरा, मैदागिन, विशेश्वरगंज, मुकीमगंज, मछोदरी होेते हुए शोभायात्रा राजघाट से खिड़किया घाट पहुंच कर समाप्त हुई।

इसके पहले लहुराबीर स्थित हथुआ मार्केट के मुख्य द्वार पर समिति के संरक्षक वरिष्ठ सपा नेता गोपाल यादव ने फीता काटकर शोभायात्रा का उद्घाटन किया। शोभायात्रा में शामिल होने आये युवाओं ने पूरे बनारसी ठसक के साथ केशरिया साफा बांध यादव समाज की एकजुटता का परचम लहराया। खिड़किया घाट स्थित गोवर्धन धाम में जुलूस के समापन के बाद यदुवंशियों ने गोवर्धन मंदिर में पूजा-पाठ की। इस दौरान इलाहाबाद से आए कलाकारों ने गंगा किनारे बने भव्य मंच पर भगवान श्रीकृष्ण की मोहक लीलाओं का मंचन किया। नाटक देखने के बाद समाज के लोगों ने आयोजित सभा में भाग लिया।

हथुआ मार्केट में मंच को लेकर विवाद की कोशिश

गोवर्धन पूजा समिति की ओर से आयोजित गोवर्धन शोभायात्रा के उद्घाटन के पूर्व समिति की पदाधि​कारी समाजवादी पार्टी से वाराणसी लोकसभा उम्मीदवार रहीं शालिनी यादव, उनके पति अरुण यादव और अन्य पदाधिकारियों ने मंच को लेकर जिद की। लेकिन सतर्क पुलिस ने नई परम्परा की शुरूआत नहीं होने दी। बाद में समिति के लोगों ने पुरानी परम्परा के अनुसार ही शोभायात्रा निकाली। पहले बेनियाबाग स्थित रामसिंह अखाड़ा से निकलने वाली शोभायात्रा यादव समाज में मतभेद के बाद चेतगंज थाने के सामने हथुआ मार्केट के मुख्य द्वार के बाहर से निकलती थी। इस बार पदाधिकारियों ने हथुआ मार्केट के अंदर से शोभायात्रा निकालने के लिए मंच बनाने का प्रयास किया तो दुकानदारों और वहां के लोगों ने विरोध कर दिया। सूचना पाते ही मौके पर पुलिस के आला अफसरों के साथ कई थानों की फोर्स पहुंच गई।

क्षेत्रीय लोगों ने कहा कि शोभायात्रा का मंच हथुआ मार्केट के मुख्य द्वार से सटे बाहर ही बनता है। अफसरों के समझाने पर समिति के पदाधिकारियों ने कहा कि पुरानी परम्परा के अनुसार ही शोभायात्रा निकलेगी। उधर, गोवर्धन पूजा समिति की पदाधिकारी शालिनी यादव की पहल पर गोवर्धन पूजा में पहने जाने वाले केसरिया साफा बदल कर दूसरे रंग का कर दिया गया। इससे समाज के लोग दो धड़ों में बंटे नजर आये। शालिनी यादव गुट से जुड़े लोगों ने नया रंग का साफा बांधा तो श्रीकृष्ण यादव महासभा से जुड़े यादव बंधुओं ने परम्परागत केसरिया साफा ही बांधा।

समाज के प्रतिभाशाली लोगों का सम्मान

खिड़कियाघाट पर आयोजित सभा में गोवर्धन पूजा समिति की ओर से यदुवंशी समाज के प्रतिभाशाली और विभिन्न क्षेत्रों में उत्कृष्ट कार्य करने वालों को सम्मानित किया गया। बतौर मुख्य अतिथि बिहार के जन अधिकार पार्टी (लोकतांत्रिक) के राष्‍ट्रीय संरक्षक और पूर्व सांसद राजेश रंजन उर्फ पप्पू यादव ने उन्हें अंगवस्त्रम पहना कर गावेर्धनश्री पदक दिया। इस दौरान पप्पू यादव ने केंद्र और प्रदेश सरकार पर निशाना साधा। अन्य वक्ताओं ने कहा कि यदुवंशियों का स्वर्णिम इतिहास रहा है। गोवर्धन पूजा उसी परंपरा की कड़ी है। शोभायात्रा और सभा में विनोद यादव,श्री प्रकाश यादव,विजय देवल,जंत्रलेश्वर यादव,अशोक यादव, जय प्रकाश यादव,दिनेश यादव आदि शामिल रहे।

Next Story
Share it