Action India

कोरोना से जीता युवक, लेकिन आस-पड़ोस के तानों से हारा

कोरोना से जीता युवक, लेकिन आस-पड़ोस के तानों से हारा
X

  • कोरोना पीड़ित युवक ने मकान बेचने का के लिए बैनर लगाया

शिवपुरी । एएनएन (Action News Network)

शिवपुरी जिले में कोरोना से पॉजिटिव निकले युवक को कोरोना जैसी महामारी से तो जीतने में कामयाबी मिल गई, लेकिन अपने आस-पड़ोस के लोगों के तानों से परेशान होकर अब उस युवक ने अपने मकान को बेचने के लिए अपने घर पर बैनर टांग दिया है। इस युवक का कहना है कि वह आस-पड़ोस के लोगों के द्वारा उसके प्रति की जा रही हीनभावना से परेशान है और उसे मानसिक रूप से परेशान किया जा रहा है। इसलिए वह अपना मकान बेचने की योजना में है और इसी योजना के तहत अपने घर के द्वार पर उसने मकान बेचने के लिए बैनर लगा दिया है।

जिले के रहने वाले दीपक शर्मा में कुछ दिनों पहले कोरोना वायरस की पुष्टि हुई थी। दीपक जिले में कोरोना वायरस के पहले मरीज है। हालांकि डॉक्टरों के इलाज और अपने मनोबल के दम पर दीपक ने कोरोना को हरा दिया और स्वस्थ होकर अपने घर लौट आया। लेकिन पड़ोसियों के बुरे व्यवहार ने उसके मनोबल को तोड़ दिया है। अब वह अपने परिवार के साथ अपना घर बेचकर दूसरी जगह जाना चाहता है। उसने घर के बाहर बोर्ड लगा दिया है, जिस पर लिखा है 'यह मकान बिकाऊ है।
जब इस मामले पर पत्रकारों ने दीपक के घर पहुँचकर उससे बात की तो उन्होंने कहा कि वह कोरोना वायरस से सिर्फ अपने मनोबल के कारण स्वस्थ्य हुए और उनका मनोबल जिला प्रशासन, चिकित्सक, नर्स, मीडिया द्वारा फोन पर उनसे लगातार बातचीत कर बढ़ाते रहे।

लेकिन जब से वह स्वस्थ होकर शिव कालोनी स्थित अपने घर आए है, तब से उनके पड़ोसी और नजदीकी उनके साथ बुरा बर्ताव कर रहे है। दीपक के पिता जानकीलाल शर्मा का कहना है कि उनके घर आने वाले दूध व सब्जी वालों तक से उनसे दूर रहने के लिए उनके पडौसी बोल रहे हैं। ऐसी नकारात्मकता ने उन्हें तोड़ दिया है।

Next Story
Share it