Top
Action India

टी-10 क्रिकेट खेल का सबसे मुश्किल प्रारूप : युवराज सिंह

टी-10 क्रिकेट खेल का सबसे मुश्किल प्रारूप : युवराज सिंह
X

नई दिल्ली । एएनएन (Action News Network)

भारतीय क्रिकेट टीम के पूर्व हरफनमौला खिलाड़ी युवराज सिंह ने टी-10 क्रिकेट को खेल का सबसे मुश्किल प्रारूप बताया है। बता दें कि युवराज ने पिछले साल अबुधाबी टी-10 लीग में मराठा अरेबियंस का प्रतिनिधित्व किया था।

युवराज की टीम मराठा अरेबियंस ने शेन वॉटसन की कप्‍तानी वाली ग्‍लेडियटर्स टीम को 8 विकेट से हराकर खिताब अपने नाम किया था। ग्‍लेडियटर्स ने 10 ओवर में 8 विकेट पर 87 रन का स्‍कोर खड़ा किया था। इस लक्ष्‍य को अरेबियंस ने 2 विकेट गंवाकर 7.2 ओवर में हासिल कर लिया।

युवराज ने गौरव कपूर के यूट्यूब शो पर कहा, "मैंने टी-10 लीग में खेला। हम लोग बूढ़े हो रहे हैं लेकिन खेल काफी तेज हो रहा है। मुझे लगता है कि यह प्रारूप काफी मुश्किल है।"

उन्होंने कहा, "टी-20 में आपको कम से कम कुछ गेंदे मिलती हैं लेकिन टी-10 में अगर एक भी खाली गेंद निकलती है तो दबाव होता है। आपको दूसरी और तीसरी गेंद से ही मारना होता है।"

पिछले साल जून में संन्यास ले चुके युवराज ने विदेशी लीग टी-20 कनाडा में खेलने को लेकर अपने अनुभव के बारे में बताते हुए कहा, "संन्यास लेना अच्छा रहा। मैं कुछ अंतरराष्ट्रीय लीग में खेल चुका हूं। मुझे वहां काफी मजा आया। मैं कनाडा में खेला और ऐसा पहली बार था कि मैं पंजाबी समुदाय के सामने खेल रहा था।"

बता दें कि युवराज ने भारत के लिए 304 एकदिवसीय, 58 टी-20 और 40 टेस्ट मैच खेले हैं। उन्होंने 2007 के टी-20 विश्व कप और 2011 के वनडे विश्व कप में भारतीय टीम की खिताबी जीत में सबसे अहम भूमिका अदा की थी। अपने शानदार प्रदर्शन के लिए युवराज को 2011 विश्व कप में 'मैन ऑफ द टूर्नामेंट' के अवॉर्ड से भी नवाजा गया था।

Next Story
Share it