अन्य राज्यमध्य प्रदेश

निशातपुरा कोच फैक्ट्री में शानदार उत्पादन, टूटा पिछले 34 वर्षों का रिकार्ड

भोपाल

सवारी डिब्बा पुनर्निर्माण कारखाना, निशातपुरा भोपाल में दिसंबर माह में रिकॉर्ड उत्पादन हुआ है। पिछले 34 वर्षों का रिकार्ड तोड़ते हुए इस माह 130 कोचों का मेंटेनेंस किया गया। साथ ही कपलर वाले NMGHS कोच का पहला रैक भी इसी माह में निकाला गया। ये कोच ऑटोमोबाइल कैरियर के रूप में काफी डिमांड में हैं और रेल मंत्रालय ने सभी जोन को इस कार्य निर्देशित किया था। मुख्य कारखाना प्रबंधक अमितोज बल्लभ ने बताया कि कोच फैक्ट्री भोपाल अपनी गुणवत्ता एवं उत्पादकता के लिए पूरे भारत में अग्रगण्य माना जाता है। उप यांत्रिक अभियंता कुमार आशीष ने कहा कि इन कोचों का रिकार्ड उत्पादन मुख्यालय के मार्गदर्शन के साथ साथ कारखाना के कर्मचारियों की सकारात्मक सोच और कौशल का परिणाम है। उन्होंने कारखाने द्वारा भविष्य में और अधिक उत्पादन और उच्च गुणवत्ता के लक्ष्य का भरोसा जताया।

 NMGHS कोच
गौरतलब है कि कोच फैक्ट्री के द्वारा ही इसका प्रोटोटाइप तैयार किया गया था जिसे रेलवे बोर्ड की टीम ने संतोषजनक पाया और इसके निर्माण की हरी झंडी दी थी। NMGHS कोच पुराने कोच आईसीएफ व आरसीएफ कोच को परिवर्तित कर कर बनाए जाते हैं, NMGHS कोचों का उपयोग रेलवे में ऑटोमोबाइल ढुलाई के लिए किया जाता है, ये कोच परिवहन के हिसाब से काफी उपयोगी होते है।

कोचों का रिकार्ड उत्पादन मुख्यालय का मार्गदर्शन
मुख्य कारखाना प्रबंधक अमितोज बल्लभ ने बताया कि रेल मंत्रालय के दिशानिर्देश में यह अभिनव कार्य संपादित हुआ है। उन्होंने कहा की कोच फैक्ट्री भोपाल अपनी गुणवत्ता एवं उत्पादकता के लिए पूरे भारत में अग्रगण्य माना जाता है। उप-यांत्रिक अभियंता कुमार आशीष ने कहा कि इन कोचों का रिकार्ड उत्पादन मुख्यालय के मार्गदर्शन के साथ साथ कारखाना के कर्मचारियों की सकारात्मक सोच और कौशल का परिणाम है। उन्होंने कारखाने द्वारा भविष्य में और अधिक उत्पादन और उच्च गुणवत्ता के लक्ष्य का भरोसा जताया।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button