अन्य राज्यबिहार

14 साल की लड़की की हत्या के नौ महीने में शर्मनाक सच खुला; अस्मत लूट हत्या, दादा पर लगा आरोप

सीतामढ़ी.

सीतामढ़ी में 58 साल के एक होम गार्ड सिपाही को पुलिस ने पोती की हत्या करने का आरोपी बनाया है। इस संबंध में आईजी शिवदीप लांडे ने बताया कि 9 महीना पहले 14 साल की नाबालिग के साथ दुष्कर्म हुआ था, फिर उसकी हत्या कर दी गई थी। सघन जांच के बाद यह स्पष्ट हुआ कि उसे उसके दादा ने ही मार डाला था। दुष्कर्म किसने किया, यह पुलिस साफ नहीं कर सकी। दुष्कर्म के बाद सम्मान के नाम पर पोती की हत्या की गई या दुष्कर्म छिपाने के लिए हत्या हुई, यह आरोपी की गिरफ्तारी के बाद साफ हो सकेगा।

वर्ष 2023 के 8 जुलाई 2023 को डुमरा थाना क्षेत्र के मिर्चैया गांव में 14 साल की नाबालिग के साथ बलात्कार के बाद उसकी हत्या कर दी गई थी। परिजनों ने इसको लेकर न्यायालय में परिवाद दायर किया था। आईजी तक मामला पहुंचने के बाद डुमरा थाना में कांड संख्या 372/23 के तहत एसपी मनोज कुमार तिवारी के नेतृत्व में एक एसआईटी का गठन किया गया। तिरहुत क्षेत्र के आईजी शिवदीप लांडे ने बताया कि सीसीटीवी फुटेज, एसआईटी जांच, स्थानीय लोगों और प्रत्यक्षदर्शियों से पूछताछ के दौरान पाया गया कि मृतका के दादा ने ही अपने पोती की हत्या की थी। जांच के क्रम में जब निजी नर्सिंग होम के सीसीटीवी फुटेज की जांच पड़ताल की गई, तो यह पाया गया कि नर्सिंग होम प्रबंधक ने सीसीटीवी के साथ छेड़छाड़ की थी।

घटना के दस दिन बाद न्यायालय में दायर हुआ था परिवाद
आईजी शिवदीप लांडे ने बताया कि हत्या के 10 दिन बाद मृतका के पिता ने न्यायालय में परिवाद दायर किया था, जिसके बाद एसआईटी गठन किया गया। उन्होंने बताया कि आरोपी होम गार्ड का जवान था इसलिए थानाध्यक्ष ने उसे बचाने के लिए लापरवाही बरती जिस वजह से पीड़ित परिवार को कोर्ट का सहारा लेना पड़ा। आईजी शिवदीप लांडे ने बताया कि मामला संज्ञान में आने के बाद एसआईटी का गठन किया गया। फिर सीसीटीवी फुटेज, एसआईटी जांच, स्थानीय लोगों, प्रत्यक्षदर्शियों समेत लगभग दो दर्जन लोगों के बयान लिये गए और साक्ष्य इकट्ठा किया गया। आईजी शिवदीप लांडे ने बताया कि हत्या के बाद मृतका के घटना के समय पहने हुए कपड़े और वीडियो रिकॉर्डिंग को एसआईटी ने जब्त कर लिया। साक्ष्य के आधार पर ही आगे की कार्रवाई की जा रही है। जिस हॉस्पिटल में लड़की को भर्ती कराया गया था, वहां का सीसीटीवी फुटेज भी सामने आया है।

थानाध्यक्ष सहित अन्य लोगों पर होगी कार्रवाई
आईजी शिवदीप लांडे ने बताया कि घर वालों ने लड़की का दाह संस्कार पुलिस को बिना बताए ही कर दिया, ऐसे में अन्य लोगों की भी भूमिका संदिग्ध पाई गई है। उन्होंने कहा कि आगे की जांच में जो दोषी पाए जाएंगे, उन पर कार्रवाई की जाएगी। आईजी शिवदीप लांडे ने बताया कि इस मामले में डुमरा थाना के तत्कालीन थाना अध्यक्ष जन्मेजय राय पर विभागीय कार्रवाई की जाएगी। आईजी ने बताया कि उसकी लापरवाही के कारण ही समय से कांड का खुलासा नहीं हो सका। उन्होंने थानाध्यक्ष पर इस घटना को अलग एंगल देने की कोशिश की भी बात कही। उन्होंने कहा कि इस मामले में जिन लोगों की भूमिका होगी उन सभी पर कार्रवाई की जाएगी।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button