अन्य राज्यउत्तर प्रदेश

पीलीभीत और लखीमपुर जिले में बारिश के कारण आई आफत

पीलीभीत

पिछले एक हफ्ते से ज्‍यादा समय से जारी मूसलाधार बारिश के बीच मंगलवार को पीलीभीत और लखीमपुर जिले में आफत आ गई। टनकपुर-बरेली हाईवे पर भी पानी आ गया है। पीलीभीत टाइगर रिजर्व जाने वाली सड़क पर पानी ही पानी है। अधिक पानी में जाते ही गाड़‍ियां बंद हो जा रही हैं। पीलीभीत में मौसम के मद्देनज़र दो दिन के लिए स्‍कूल बंद किए जा चुके हैं। उधर, लखीमपुर में भी हाल खराब हैं। पलिया के सभी रास्‍ते बंद हो गए हैं।

शारदा नदी की बाढ़ ने पलिया तहसील मुख्यालय का जिला मुख्यालय से संपर्क पूरी तरह से काट दिया है। मंगलवार की सुबह पलिया-निघासन रोड पर भी शारदा का पानी आ गया। इसके बाद प्रशासन ने इस सड़क पर भी आवागमन बंद कर दिया है। पलिया-भीरा रोड को एक दिन पहले ही वाहनों के लिए बंद किया जा चुका है। पुलिस ने दोनों सड़कों पर बैरियर लगाकर इन रास्तों को ब्लॉक कर दिया। पलिया से सटी शारदा नदी में उफान आ गया है। शारदा नदी के जलस्तर में लगातार इजाफा हो रहा है। नदी के करीबी 25 से ज्यादा गांव में पानी भर चुका है।

हर साल बाढ़ के दौरान पलिया शहर महफूज रहता था लेकिन इस बार बाढ़ का पानी पलिया शहर में भी घुस गया। सोमवार को पलिया भीरा रोड पर 2 फीट तक पानी आ गया था। वहीं मंगलवार की सुबह पानी-निघासन रोड पर पानी चलने लगा। इसके बाद प्रशासन ने इस रोड को ब्लॉक कर दिया है। लोगों से अपील की जा रही है कि वे लखीमपुर से पलिया आने के लिए किसी भी तरह के वाहन का प्रयोग ना करें। जब तक बाढ़ की स्थिति सामान्य नहीं होती जिला मुख्यालय के अधिकारी भी पलिया नहीं आ सकते।

इसके पहले सोमवार तड़के बनबसा बैराज से शारदा नदी में पानी छोड़ते ही पीलीभीत और लखीमपुर जिले में आफत आ गई थी। पीलीभीत में नवनिर्मित माला-शाहगढ़ रूट पर बनी पुलिया पानी में बह गई थी। सोमवार को यहां पूरा रेलवे ट्रैक हवा में लटका नजर आया। वहीं, कलीनगर और बरखेड़ा में सड़क कट जाने से कई गांवों का जिला मुख्यालय से संपर्क टूट गया है। ट्रांस शारदा क्षेत्र में 20 से अधिक गांवों में पानी भर गया। उधर, देहरादून से टनकपुर जा रही ट्रेन को पीलीभीत में शार्ट टर्मिनेट कर दिया गया जबकि टनकपुर से पीलीभीत होकर मथुरा जाने वाली ट्रेन को रद कर दिया गया।

एनडीआरएफ ने बाढ़ में फंसे ग्रामीणों को बचाया
सोमवार की रात लखीमपुर के पलिया के पटिहन इलाके में बाढ़ के पानी में फंसे पांच लोगों को एनडीआरएफ की टीम ने रेस्क्यू किया। सुरक्षित स्थानों पर पहुंचाया गया है। पलिया तहसील में शारदा नदी जोर उफान पर है। नदी का पानी कई गांव में घुस चुका है। प्रशासन पिछले चार दिनों से लोगों से अपील कर रहा था कि निचले इलाकों से निकालकर लोग ऊंचे स्थान या बढ़ चौकिया में चले जाएं। इसके बाद भी खेती किसानी के काम के चक्कर में लोग गांव नहीं छोड़ पा रहे हैं।

इंस्पेक्टर पलिया विवेक उपाध्याय ने बताया कि सोमवार की रात 12:15 बजे प्रशासन को सूचना मिली कि देवीपुर गांव में पांच लोग बाढ़ के पानी में फंसे हुए हैं। वह घर की छतों पर बैठे हुए थे। सूचना मिलते ही एनडीआरएफ की टीम के साथ पलिया पुलिस मोटर बोट के जरिए गांव तक पहुंची और वहां के पांच लोगों को सुरक्षित निकालकर लाई।

 

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button