हरियाणा

विश्व तंबाकू निषेध दिवस का किया आयोजन

टीम एक्शन इंडिया
राजकुमार प्रिंस
करनाल। स्वास्थ्य विभाग करनाल द्वारा सिविल सर्जन डॉ. कृष्ण कुमार की अध्यक्षता में आईटीआई करनाल में शुक्रवार को विश्व तंबाकू निषेध दिवस का आयोजन किया गया। इस कार्यक्रम में संस्था के छात्रों को तंबाकू से होने वाले दुष्प्रभावों के बारे में विस्तार से बताया गया और साथ ही साथ यह भी बताया गया कि इस लत से बचाव के लिए किस प्रकार विभाग द्वारा विभिन्न कार्यक्रम किए जा रहे हैं।

इसके अंतर्गत बताया गया कि तंबाकू में 4000 से भी ज्यादा स्वास्थ्य के लिए हानिकारक तत्व होते हैं जो मनुष्य के शरीर में सिर से लेकर पांव तक अलग-अलग प्रकार के विकार पैदा करते हैं। बताया गया कि तंबाकू के इस्तेमाल से आंखों में मोतिया, गंजापन, मुंह का कैंसर, पेट में अल्सर व कैंसर, फेफड़े का कैंसर, गैंग्रीन, स्ट्रोक, प्रजनन क्षमता का कम होना व अन्य घातक बीमारियां हो सकती हैं।

डॉ. कृष्ण कुमार ने बताया कि हमारे देश में प्रतिवर्ष तकरीबन 13 लाख लोगों की मौत तंबाकू के उपयोग से होती है और यह आंकड़ा हर वर्ष बढ़ रहा है। तंबाकू का प्रचलन हरियाणा में बढ़ रहा है और साथ ही साथ यह एक गलत धारणा बन रही है कि तंबाकू का हुक्के में प्रयोग अच्छा है जबकि तंबाकू को हुक्के में उपयोग करने पर भी उतना ही नुकसान होता है जितना दूसरे तरीके से। एक्टिव स्मोकिंग जिस को फर्स्ट हैंड स्मोक कहा जाता है व पैसीव स्मोकिंग जिसे की सेकंड हैंड स्मोक कहा जाता है, के अतिरिक्त अब थर्ड हैंड स्मोक को भी घातक रूप में देखा जा रहा है, क्योंकि इसकी वजह से भी लोगों को घातक बीमारियों का सामना करना पड़ता है।

थर्ड हैंड स्मोक का मतलब है जो धूम्रपान के कण हमारे दीवार या सतह पर आ गए हैं, उनकी वजह से स्वास्थ्य को नुकसान होना। उन्होंने बच्चों को जानकारी देते हुए तंबाकू से दूर रहने बारे आह्वान किया।

उन्होंने बताया कि विश्व तंबाकू निषेध दिवस के उपलक्ष में जिला करनाल में विभिन्न स्थानों पर अलग-अलग कार्यक्रम करवाए जा रहे हैं। स्वास्थ्य विभाग करनाल द्वारा तंबाकू निषेध प्रतिज्ञा सभी उप स्वास्थ्य केंद्रों व अन्य स्थानों पर करवाई जा रही है।

यह कार्यक्रम सैनिक स्कूल कुंजपुरा, आईटीआई निसिंग व अन्य स्थानों पर भी तंबाकू से होने वाले दुष्प्रभावों के बारे में जागरूकता लाने के लिए जिला करनाल में करवाए जा रहे हैं। स्वास्थ्य विभाग करनाल द्वारा सभी आयुष्मान आरोग्य मंदिर में इस प्रकार की गतिविधियां व प्रतिज्ञा आगामी 21 जून तक करवाई जाएंगी।

मनोचिकित्सक डॉक्टर मनन गुप्ता द्वारा भी बच्चों को तंबाकू के दुष्प्रभावों के बारे में बताया गया। उप सिविल सर्जन डॉ. अमन कंबोज द्वारा छात्रों से तंबाकू निषेध दिवस के उपलक्ष पर चित्रकला प्रतियोगिता का आयोजन भी किया गया और छात्रों में पारितोषिक वितरण भी किया गया। इस अवसर पर स्वास्थ्य विभाग की तरफ से डॉक्टर अभय अग्रवाल, डॉक्टर स्वाति बंसल व डॉक्टर संजय भी उपस्थित रहे। कार्यक्रम में बच्चों को तंबाकू इस्तेमाल न करने बारे व दूसरों को भी इससे दूर रहने हेतु प्रेरित करने बारे प्रतिज्ञा दिलवाई गई।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button