Select Page

सुक्खू की सरकार, बेसहारों से सरोकार

सुक्खू की सरकार, बेसहारों से सरोकार

मंडी/खेमचंद शास्त्री
बेसहारों को माता-पिता का दुलार देते हुए हिमाचल में सुक्खू सरकार ने उत्सव अनुदान प्रदान करके उन्हें उत्सवों के उल्लास का सुखद अहसास करवाया है। बाल देखभाल संस्थाओं, नारी सेवा सदन, शक्ति सदन और बृ़द्ध आश्रमों में रह रहे लोगों की खुशियों का उस समय ठिकाना नहीं रहा जब लोहड़ी और मकर संक्राती का त्यौहार उनके लिए खास बन गया। मंडी जोन के तहत आने वाले जिला लाहौल-स्पीति, कुल्लू, बिलासपुर तथा मंडी में हाल ही में संपन्न हुए लोहड़ी और मकर संक्राती के त्यौहार में विभिन्न संस्थाओं के आवासियों ने उत्सव अनुदान से लाभावित होकर अलाप की गरमाहट, पारम्पारिक खाद्य पद्धार्थों, व्यंजनो के स्वाद और मनोरंजन के माहौल का भरपूर आन्नद उठाया।

जिला बिलासपुर के दयोली में मानव सेवा संस्थान ट्रस्ट द्वारा संचालित अपना घर वृद्धाश्रम में 16 अन्य वृद्धों के साथ गत दो सालों से रह रहे मण्डी के शेर सिंह और झारखंड के बबुआ ने अपने साथी वृद्धों सहित उनके लिए सरकार द्वारा आयोजित लोहड़ी तथा मकर संक्राती के त्यौहार के विशेष आयोजन पर खुशी जाहिर की तथा व्यक्त किया कि सरकार की यह सोच उनके लिए एक सम्मान व अपनेपन का भाव दशार्ती है। बिलासपुर के अपराजिता आनाथ आश्रम में अपने 20 अन्य साथियों के साथ रहने वाले 11वीं कक्षा के छात्र आदित्य ठाकुर, 9वीं कक्षा में पढ़ रहे निशांत तथा 7वीं कक्षा के छात्र रवि का मानना है कि इन त्यौहारों को मनाने से उन्हें खुशी तो मिली ही है साथ ही वे इन त्यौहारों की सांस्कृतिक पृष्ठ भूमि से भी अवगत हुए हैं। बिलासपुर के आशा किरण दिब्यांग शिक्षा संस्थान में रह रहे 14 बच्चों ने भी इन त्यौहारों का भरपूर आनंद उठाया। इस संस्थान में गत 4 सालों से रह रहे लक्ष्मीदत और गत 1 वर्ष से रह रहे सुमित राणा ने इन त्यौहारों के अवसर पर मिलें खाद्य पद्धार्थों तथा सांस्कृतिक कार्यक्रमों के आयोजन से अपने को खुश बताया तथा मुख्य धारा जुड़े होने का अहसास व्यक्त किया। सुकेत सीनियर सिटीजन होम सुन्दर नगर में रह रही बिलासपुर की 80 वर्षीय बरसिनो देवी ने इस बार लोहड़ी तथा मकर संक्राती त्यौहार के आयोजन को यादगार तथा आत्म विभोर कर देने वाला बताया। इसी आश्रम में रह रहें जम्मू के 64 वर्षीय सुदेश ने कहा कि संस्कृति और परम्पराओं की छवि हम बुजुर्गो के जहन में बसती है अत: ऐसे त्यौहारों के अयोजन खुशी व उल्लास का जारिया बनते हैं। उन्होने लोहड़ी और मकर संक्राती के त्यौहार का सुखद अहसास देने के लिए सुखु सरकार को शुक्रिया कहा। छात्राओं के स्पैशल स्कूल सुन्दर नगर की 118 छात्राओं के लिए यह त्यौहार खाने, नाचने, गाने लाड-दुलार और मनोरंजन से भरपूर था।

यहां पढ़ रही 10वीं कक्षा की सांची कटोच, 8वीं कक्षा की सृष्टि चैहान तथा 9वीं कक्षा की छात्रा रितु ने मधुर स्मृतियां व्यक्त करते हुए इन त्यौहारों के आयोजन को उल्लास से भरपूर तथा पारिवारिक सदस्यों की तरह सरकार से मिले दुलार को सुकून भरा बताया। मण्डी के वृद्वाश्रम भंगरोटू में गत 12 वर्षों मे रह रही हमीरपुर की 70 वर्षीय निर्मला तथा बिलासपुर के 72 वर्षीय बालक राम ने इन त्यौहारों के अयोजन को बुजुर्गो के लिए सुखदायक तथा जरूरी बताया उन्होने कहा कि निर्धारित परम्पराऔं के साथ मनाये गए इन त्यौहारों से उन्हें अपनेपन का अहसास तथा मनसिक संतुष्टि मिली।

Advertisement

Advertisement